सिरमौर पुलिस

विभाग का संक्षिप्त परिचय

सिरमौर में पुलिस की उत्पत्ति बनी हुई है जब सिरमौर एक रियासत थी और पुलिस विभाग पुलिस अधीक्षक के प्रभारी था, जो सीधे तौर पर राजा के लिए जिम्मेदार था। राजा शमशेर प्रकाश के शासनकाल के दौरान, प्रत्येक पुलिस स्टेशन एक उप-निरीक्षक का कार्यभार संभाला था, 1 9 34 में एक उप-निरीक्षक के रूप में पुनः नामित किया गया था। पुलिस बल की कुल शक्ति, जो 1 9 04 में केवल 12 9 थी, 1 9 34 में बढ़कर 206 हो गई। विभाग को पंजाब पुलिस अधिनियम की तर्ज पर राजा द्वारा प्रशासित किया गया था, इसके तहत नियम और पंजाब पुलिस संहिता।

जिला सिरमौर में विभागों के कार्यालय

  1. अधीक्षक,  कार्यालय नाहन
  2. उपाधीक्षक, कार्यालय पॉँवटा साहिब
  3. उपाधीक्षक, कार्यालय राजगढ़

विभाग द्वारा क्रियान्वित गतिविधियां

सामुदायिक पुलिस व्यवस्था, आवागमन नियम और जागरूकता कार्यक्रम, आत्मरक्षा प्रशिक्षण आदि जैसे विभिन्न गतिविधियों का आयोजन विभाग द्वारा समय-समय पर किया जाता है।

  1. .समुदाय पुलिस योजना  :  सामुदायिक पुलिसिंग पुलिस की एक रणनीति है जो पुलिस के निर्माण संबंधों पर केंद्रित है और समुदायों के सदस्यों के साथ मिलकर काम करती है। यह एक ऐसी नीति है जिसके लिए पुलिस को सार्वजनिक सुरक्षा संबंधी चिंताओं को दूर करने के लिए एक सक्रिय दृष्टिकोण प्राप्त करने की आवश्यकता है।
  2. आवागमन नियम और जागरूकता कार्यक्रम:  यातायात नियमों की जागरूकता दोनों चालकों और पैदल चलने वालों के जीवन को बचा सकती है।
  3. लड़कियों के लिए आत्मरक्षा प्रशिक्षण:   सिरमौर जिले के कई प्रशिक्षित पुलिस अधिकारियों ने स्कूल जाकर लड़कियों के बीच आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए सिरमौर जिले के विद्यालयों में लड़कियों के छात्रों को आत्मरक्षा प्रशिक्षण (यूएसी) प्रदान किया है। भारत में महिलाओं के खिलाफ बलात्कार, छेड़छाड़, अपहरण और हत्या सबसे सामान्य रूप है। भारत में महिलाएं भी एसिड हमलों और पूर्व संध्या पर चिंतित हैं। पीड़ित और दर्शक सहित लोगों की मानसिकता, को अनदेखा करना और उसे जाने देना है लेकिन, हम क्या, एक स्वतंत्र देश के जिम्मेदार नागरिकों के रूप में, यह महसूस करने में विफल हो जाता है कि उत्पीड़न के इन उदाहरणों में महिलाओं के खिलाफ अन्य बड़े बड़े अपराधों में भड़क आता है। और यह तब होता है जब महिलाओं के लिए स्वयं रक्षा तकनीक सीखने का महत्व महसूस होता है।
  4. शक्ति ऐप / गुड़िया हैल्प लाइन:   हिमाचल प्रदेश सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिनांक 26/01/2018 को “शक्ति हेल्पलाइन” संख्या शुरू की है। इस हेल्पलाइन नंबर 7650002024 इस जिले में कार्यात्मक 24 x 7 होगा।

विभाग और अधिकारियों के संपर्क की जानकारी

>

क्रमांक अधिकारी का नाम पद कार्यालय फोन मोबाइल ईमेल
1 एस रोहित मालपनी, आईपीएस  अधीक्षक पुलिस अधीक्षक कार्यालय नाहन 01702-225002 9882762624 sp-nah-hp[at]nic[dot]in
2 वीरेन्द्र ठाकुर, एचपीएस  अतिरिक्त अधीक्षक पुलिस अधीक्षक कार्यालय नाहन 01702-222329 9418042888 asp-nhn-hp[at]nic[dot]in
3 बबीता राणा, एचपीएस उपाधीक्षक(मुख्यालय) अधीक्षक कार्यालय नाहन 01702-222557 9418100311 dsp-sir-hq[at]nic[dot]in
4 श्रीमती गुलशन नेगी उपाधीक्षक (एलआर) अधीक्षक कार्यालय नाहन 01702-222101 9816014333
5 परमोद चौहान, एचपीएस उपाधीक्षक पॉँवटा साहिब उपाधीक्षक, कार्यालय पॉँवटा साहिब 01704-222144 8988333000 sdpo-poa-hp[at]nic[dot]in
6 श्रीमती दुष्यंत सरपाल, एचपीएस उपाधीक्षक राजगढ़ उपाधीक्षक, कार्यालय राजगढ़ 01799-221089 9418192092 sdpo-raj-hp[at]nic[dot]in

पुलिस स्टेशनों की संपर्क जानकारी

क्रमांक  पुलिस थाना का नाम थाना प्रभारी का नाम  मोबाइल न.  दूरभाष  ईमेल
1  थाना प्रभारी नाहन  निरीक्षक विजय कुमार 8219413998 01702-222522 police.nahan-hp[at]nic[dot]in
2 थाना प्रभारी  पॉँवटा साहिब  निरीक्षक अशोक चौहान 9418071662 01704-222322 police.paonta-hp[at]nic[dot]in
3 थाना प्रभारी कालाअम्ब  उपनिरीक्षक संजय कुमार 9418542933 01702-254100 police.kalamb-hp[at]nic[dot]in
4 थाना प्रभारी शिलाई  निरीक्षक जसबीर सिंह 9418499089 01704-278547 police.shillai-hp[at]nic[dot]in
5 थाना प्रभारी रेणुकाजी  निरीक्षक मान वेरिंदर 9418092661 01702-267329 police.renukajee-hp[at]nic[dot]in
6 थाना प्रभारी संगडाह उपनिरीक्षक विरोचन नेगी 9418817670 01702-248201 police.sangrah-hp[at]nic[dot]in
7 थाना प्रभारी पच्छाद उपनिरीक्षक बीरू अहमद 9418462697 01799-236727 police.pachhad-hp[at]nic[dot]in
8 थाना प्रभारी राजगढ़ उपनिरीक्षक बलवंत सिंह 9816681800 01799-221057 police.rajgarh-hp[at]nic[dot]in
9 थाना प्रभारी माजरा उपनिरीक्षक सेवा सिंह 9418030137 01704-255147 majrapolice[at]gmail[dot]com